Skip to content

अटक गया | Atak Gaya Lyrics

अटक गया | Atak Gaya Lyrics :->बधाई दो का अटक गया गीत बिल्कुल नया हिंदी गीत है जिसे अरिजीत सिंह, रूपाली मोघे ने गाया है और इस नवीनतम गीत में राजकुमार राव, भूमि पेडनेकर हैं। अटक गया गाने के बोल वरुण ग्रोवर ने लिखे हैं जबकि संगीत अमित त्रिवेदी ने दिया है और वीडियो का निर्देशन हर्षवर्धन कुलकर्णी ने किया है।

Song:Atak Gaya
Movie:Badhaai Do
Singer:Arijit Singh, Rupali Moghe
Lyrics:Varun Grover
Music:Amit Trivedi
Starring:Rajkummar Rao, Bhumi Pednekar
Label:Zee Music Company

अटक गया | Atak Gaya Lyrics

Jab Chalte Chalte Raah Mude
Jab Jugnu Muthi Khol Ude
Jab Nayan ye Tode Rule sabhii
Aur Khulke Karle bhul sabhii
bhul sabhii bhul sabhii||

Toh Atak gayaa hai
ye Mann Atak gayaa hai
Kuchh Chatak gayaa hai
ye Mann Atak gayaa hai

Toh Atak gayaa hai
ye Mann Atak gayaa hai
Kuchh Chatak gayaa hai
ye Mann Atak gayaa hai Oye||

kabi Jheel hai Tu
Aur kabi Yaadon Ki Naav hai
Tu Hi Dil Ka Kinaara Mera||

kabi Dhoop hai Tu
Aur kabi Taaron Ki Chhaon hai
Saara Hi hai Sahara Mera||

Jab Baaki Duniya Dhundhli Lage
Jab Raat Bhi Ujli Ujli Lage
Jab Dil Ko Dua Maalum Pade
Aur Dhandkan Jhatt Se Boom Kare||

Boom Kare Boom Kare

Toh Atak gayaa hai
ye Mann Atak gayaa hai
Kuchh Chatak gayaa hai
ye Mann Atak gayaa hai||

Toh Atak gayaa hai
ye Mann Atak gayaa hai
Kuchh Chatak gayaa hai
ye Mann Atak gayaa hai Haaye||

Ataka Jaave Ataka Jaave
Silsila Prem Ka
Aa Hath Pe Rakhe Bulbula Prem Ka||

Ataka Jaave Ataka Jaave
Silsila Prem Ka
Aa Hath Pe Rakhe Bulbula Prem Ka
||ye Bulbula Prem Ka ||

Atak Gaya Lyrics in Hindi

जब चलते चलते राह मुदे
जब जुगनू मुठी खोल उड़े
जब नयन ये तोड़े रूल सबि
और खुलके करले भूल सबि
भूल सबि भूल सबी ||

तो अटक गया है
ये मन अटक गया है
कुछ छटक गया है
ये मन अटक गया है

तो अटक गया है
ये मन अटक गया है
कुछ छटक गया है
ये मन अटक गया है ओए ||

कबी झेल है तू
और कबी यादों की नाव है
तू ही दिल का किनारा मेरा||

कबी धूप है तू
और कबी तारों की छाँव है
सारा ही है सहारा मेरा ||

जब बाकी दुनिया धुंधली लगे
जब रात भी उजली ​​उजली ​​लगे
जब दिल को दुआ मालुम पढ़े
और धड़कन झट से बूम करे ||

बूम करे बूम करे

तो अटक गया है
ये मन अटक गया है
कुछ छटक गया है
ये मन अटक गया है ||

तो अटक गया है
ये मन अटक गया है
कुछ छटक गया है
ये मन अटक गया है हाय ||

अटक जावे अटका जावे
सिलसिला प्रेम कास
आ हाथ पे राखे बुलबुला प्रेम का ||

अटक जावे अटका जावे
सिलसिला प्रेम कास
आ हाथ पे राखे बुलबुला प्रेम का
||ये बुलबुला प्रेम का ||

Read Also- यह भी जान

Leave a Reply

Your email address will not be published.